6 जुलाई 2012

कुछ प्यार से...



प्यार भी ना
कितने प्यारे से उसूल हैं इसके
हर जिद में
अपने महबूब की ख़ुशी शामिल होती है.....

***************************************

कभी जिन्दगी को करीब से देखा है.....?
देखोगे
जब पड़ोगे किसी के प्यार में.....

***************************************

कितने ऊबड़-खाबड़ रास्तों से
गुजरती है ये जिन्दगी...
पर ये रास्ते भी
गुनगुनाने लगते हैं,
जब साथ हो कोई अजनबी
पर अपना सा.....!!

***************************************

3 टिप्‍पणियां:

  1. जब साथ हो कोई अजनबी
    पर अपना सा.....!!

    अजनबी अपना सा हो जाए
    तो अजनबियत कहीं खों जाए

    उत्तर देंहटाएं