27 मई 2013

गज़ल






ख़ाक होने पे यकीं आया कि ज़मीं से बाबस्ता हैं हम।
वरना तो ख़ुदा होने में कोई कसर बाकी न रही॥१॥

अब तो यूँ कैद हैं खुद की बनाई कब्रों में।
जैसे इस दुनिया से अपनी कोई यारी न रही॥२॥

यूँ सरेआम जिस्म नोंचते हैं अबला का।
क्या उनकी अपने ख़ुदा से ही परदेदारी न रही॥३॥

हम तो जीते हैं यूँ, कि जानते हैं जिन्दा हैं।
वरना जीने की नीयत तुम जैसी, हमारी न रही॥४॥

          x     x     x     x

13 टिप्‍पणियां:

  1. अब तो यूँ कैद हैं खुद की बनाई कब्रों में।
    जैसे इस दुनिया से अपनी कोई यारी न रही ..

    तन्हाई के आलम का सिला लिख दिया इस शेर में ... बहुत उम्दा गज़ल है ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. ख़ाक होने पे यकीं आया कि ज़मीं से बाबस्ता हैं हम।
    इन यकीन की हदों से जान-पहचान पहले मन करता ही नहीं ...
    बहुत खूब

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपने लिखा....
    हमने पढ़ा....
    और लोग भी पढ़ें;
    इसलिए बुधवार 29/05/2013 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in
    पर लिंक की जाएगी.
    आप भी देख लीजिएगा एक नज़र ....
    लिंक में आपका स्वागत है .
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार (28-05-2013) के "मिथकों में जीवन" चर्चा मंच अंक-1258 पर भी होगी!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  5. अच्छा लिखा है.काबिल-ऐ-तारीफ .

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत बढ़िया लिखा आपने सभी शेर शानदार

    उत्तर देंहटाएं
  7. मरहबा... बहुत गहन सोच | बेहतरीन कविता | आभार

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    उत्तर देंहटाएं

  8. वाह ,बेह्तरीन गजल .
    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    http://madan-saxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena.blogspot.in/
    http://madanmohansaxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena69.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत ही उम्दा ग़ज़ल है, लिखते रहिये!

    उत्तर देंहटाएं
  10. हम तो जीते हैं यूँ, कि जानते हैं जिन्दा हैं।
    वरना जीने की नीयत तुम जैसी, हमारी न रही
    ---------------------
    वाह

    उत्तर देंहटाएं